Pradhan Mantri Ujjwala Yojana in Hindi – प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना

April 27, 2016 | Last Modified: October 4, 2016 at 2:31 pm | Category: Central Government, Pradhan Mantri Yojana

Pradhan Mantri Ujjwala Yojana in Hindi

Read complete information of PM Ujjwala Yojana in Hindi such as application procedure, how to apply, application forms, eligibility criteria and more.

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना – PMUY एक नयी योजना है जिसे नरेंद्र मोदी जी की भारत सरकार द्वारा शुरू किया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार 5 करोड़ BPL (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराएगी योजना का शुभारंभ को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा किया जा चुका है।

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना एक बहुत ही महत्वाकांक्षी सरकारी योजना है जिसे भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अंतर्गत चलाया जायेगा। इस योजना के लिए भारत सरकार ने 8000 करोड़ रुपये का बजट बनाया है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा योजना का शुभारंभ

Ujjwala Yojana Launch

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी उज्ज्वला योजना के शुभारंभ के दौरान लोगों को सम्बोधित करते हुए। – Photo Credit: pib.nic.in

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना का मुख्य उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में खाना पकाने के लिए उपयोग में आने वाले अशुद्ध जीवाश्म ईंधन की जगह शुद्ध एलपीजी गैस के उपयोग को बढ़ावा देना है। योजना का एक मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना और उनकी सेहत की सुरक्षा करना भी है। इसके अलावा योजना के लागू होने से कई और भी फायदे हैं जैसे की

  • जीवाश्म ईंधन के उपयोग के कारण होने वाले वायु प्रदूषण को कम करने में सहायता करना।
  • जीवाश्म ईंधन पर आधारित खाना पकाने के साथ जुड़े स्वास्थ्य के गंभीर खतरों को कम करना।
  • अशुद्ध ईंधन पर खाना पकाने की वजह से भारत में होने वाली मौतों की संख्या को कम करना।
  • घर के अंदर के वायु प्रदूषण में तीव्र श्वसन की वजह से युवा बच्चों में होने वाली बीमारियों की रोकथाम।

बजट और अनुदान

सरकार ने पहले ही वित्त वर्ष 2016-17 के लिए उज्ज्वला योजना के कार्यान्वन के लिए 2000 करोड़ रुपये का आवंटन किया है। सरकार चालू वित्त वर्ष के भीतर लगभग 1.5 करोड़ बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन वितरित करेगी।

8000 करोड़ रुपये के कुल बजटीय प्रावधान के साथ इस योजना को अगले तीन सालों तक चलाया जायेगा।

इस योजना के कार्यान्वयन के लिए “Give-it-Up” अभियान के माध्यम से एलपीजी सब्सिडी में बचाए गए पैसे को उपयोग में लय जायेगा। भारत सरकार ने अब तक लगभग 5,000 करोड़ रुपये एलपीजी सब्सिडी में बचा लिए हैं। “Give-it-Up” अभियान के शुभारंभ के बाद से 1.13 करोड़ लोगों ने सब्सिडी छोड़ दी है और बाजार मूल्य पर LPG सिलिंडर खरीद रहे हैं।

वित्तीय सहायता
योजना के अंतर्गत भरा सरकार पात्र बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन के लिए 1600 रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान कर रहा है। इस योजना के तहत एलपीजी कनेक्शन परिवारों की महिलाओं को नाम पर दिया जाएगा।

सरकार स्टोव और सिलेंडर भरवाने की लागत को पूरा करने के लिए ईएमआई की सुविधा भी प्रदान करेगी।

योजना का कार्यान्वयन

योजना पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा लागू की जाएगी। यह इतिहास में पहली बार है कि पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय इस तरह की विशाल कल्याण योजना को लागू कर रहा है जिससे देश के सबसे गरीब करोड़ों परिवारों से संबंधित महिलाओं को लाभ होगा।

इस योजना को तीन साल में पूरा किया जाएगा, अर्थात्, वित्तीय वर्ष 2016-17, 2017-18 और 2018-19।

योजना के लिए पात्रता और चयन प्रक्रिया

पात्र बीपीएल परिवारों की पहचान राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों के परामर्श से की जाएगी। योजना के अंतर्गत जिन BPL परिवारों के पास योजना के आरम्भ के समय तक एलपीजी कनेक्शन नहीं है वो इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

लाभार्थी का चयन केवल BPL परिवारों में से ही किया जायेगा। हालाँकि योजना के अंतर्गत SC/ST और दुर्बल वर्ग के लोगों को प्राथमिकता दी जायेगी। एलपीजी कनेक्शन के वितरण के दौरान उन राज्यों को प्राथमिकता दी जाएगी जहाँ पर राष्ट्रीय अनुपात की तुलना में कम LPG कवरेज कम है।

आवेदन कैसे करें

उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन करने के लिए इच्छुक BPL परिवार की महिला सदस्य निर्धारित आवेदन पत्र भरकर अपने नजदीकी LPG वितरण केंद्र में जमा करा सकते हैं। याद रहे कि जिन BPL परिवारों के पास योजना के आरम्भ के समय तक एलपीजी कनेक्शन नहीं है केवल वही योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन पत्र के साथ संलग्न करने वाले दस्तावेजों कि सूची इस प्रकार है।

  • पंचायत अधिकारी या नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा अधिकृत BPL प्रमाणपत्र
  • BPL राशन कार्ड
  • एक फोटो ID जैसे की आधार कार्ड या मतदाता पहचान पत्र
  • एक पासपोर्ट साइज फोटो
  • आधार कार्ड की प्रति
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • लीज करार
  • मतदाता पहचान पत्र
  • टेलीफोन, बिजली या पानी का बिल
  • पासपोर्ट की प्रति
  • राजपत्रित अधिकारी द्वारा सत्यापित स्व-घोषणा पत्र
  • राशन कार्ड
  • फ्लैट आवंटन / कब्ज़ा पत्र
  • आवास पंजीकरण दस्तावेज
  • LIC पालिसी
  • बैंक / क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट

जरूरी नहीं कि ऊपर दिए गए सभी दस्तावेजों को आवेदन पत्र के साथ संलग्न किया जाए, इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप एलपीजी वितरण केंद्र पर कि पता करें।

आवेदन प्रक्रिया विस्तार में जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

SECC-2011 डेटा की सूची में अपना नाम ढूंढें

SECC-2011 की पूरी सूची NIC की वेबसाइट पर उपलब्ध है जो कि राज्य और जिले के आधार पर डाउनलोड की जा सकती है। सूची को डाउनलोड करने अथवा अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें।

Download SECC-2011 Data

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना का आवेदन पत्र

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना का आवेदन पत्र हिंदी और अंग्रेजी में डाउनलोड किया जा सकता है। आवेदन पत्र अपने नजदीकी LPG रिटेलर या वितरण केंद्र से भी प्राप्त किया जा सकता है। आवेदन पत्र का प्रारूप नीचे दिया गया है, प्रारूप पर क्लिक करके पूरा आकार देखा जा सकता है।
Download Ujjwala Yojana Application form in Hindi

Pradhan Mantri Ujjwala Yojana Application Form - Hindi

Pradhan Mantri Ujjwala Yojana Application Form – Hindi

आवेदन पत्र हिंदी या अंग्रेजी में डाउनलोड करने की लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें। आवेदन पत्र पीडीएफ फॉर्मेट में भी उपलब्ध है।
Download Application Forms of Ujjwala Yojana

उज्ज्वला योजना के दिशा निर्देश
पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने योजना के दिशा निर्देश भी प्रकाशित कर दिए हैं। दिशा निर्देश पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर पीडीएफ फॉर्मेट में यहाँ से डाउनलोड करें
https://www.sarkariyojna.co.in/pradhan-mantri-ujjwala-yojana-pmuy-scheme-guidelines/

भारत में रसोई गैस वितरण की वर्तमान स्थिति
पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के अनुसार, भारत में वर्तमान में 16.64 करोड़ सक्रिय एलपीजी उपभोक्ता हैं जिनमें से ज्यादातर शहरी और अर्ध शहरी क्षेत्रों में है। गरीब परिवारों तक स्वच्छ ईंधन (एलपीजी) की पहुँच सीमित है। सरकार ने पिछले एक साल में गरीबों को 60 लाख नए कनेक्शन जारी किये हैं।

भारत 21 लाख टन एलपीजी यानि कि अपनी कुल जरूरत का लगभग 40 प्रतिशत आयात करता है। नए कनेक्शन के साथ आयात भी लगभग 50-55% तक जाने की उम्मीद है।

योजना के मुख्य बिंदु

योजना बिंदु विवरण
योजना का नाम प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना
शुभारंभ 1 मई 2016
मुख्य उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवारों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराना
अन्य उद्देश्य अशुद्ध ईंधन के कारण होने वाले रोगों में कमी लाना, महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना और प्रदुषण को कम करना
लक्ष्य 5 करोड़ BPL परिवारों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन वितरित करना
समय सीमा 3 साल – 2018-19 तक
कुल बजट 8000 करोड़
वित्तीय सहायता प्रत्येक BPL परिवार को 1600 रुपये कि सहायता
पात्रता राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों के परामर्श से की गयी BPL परिवारों कि पहचान

इस योजना कि पूरी जानकारी इंग्लिश में भी उपलब्ध है, पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें
https://www.sarkariyojna.co.in/pradhan-mantri-ujjwala-yojana-free-lpg-connection-women/

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना का हिंदी विज्ञापन

Pradhan Mantri Ujjwala Yojana Hindi Advertisement

Pradhan Mantri Ujjwala Yojana Hindi Advertisement

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना के बारे में अपने विचार प्रकट करने के लिए नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का उपयोग करें. आपकी किसी भी तरह कि राय या सुझाव का अभिनन्दन है।

Related Content